From Economy To Cricket, It Is All Depressing: Pakistan Chief Justice Asif Saeed Khosa – पाक चीफ जस्टिस ने कहा- टीवी ऑन करो तो हार दिखाई देती है, अर्थव्यवस्था आईसीयू में है


ख़बर सुनें

पाकिस्तान के प्रधान न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तानी इन दिनों अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में, राजनीति में और यहां तक की क्रिकेट जगत तक से केवल ‘निराशाजनक’ खबरें ही सुन रहे हैं।

प्रधान न्यायाधीश ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसी खबरें कि ‘देश की अर्थव्यवस्था आईसीयू में हैं’ अच्छी खबर नहीं है। उन्होंने कहा,‘हम अर्थव्यवस्था की बातें सुनते हैं और बताया जाता है कि यह या तो आईसीयू में है अथवा अभी आईसीयू से बाहर आई है।’

उन्होंने कहा,‘हम संसद से बाहर आती आवाजें सुनते हैं और हम देखते हैं कि सदन के नेता के साथ ही विपक्ष के नेता को बोलने की इजाजत नहीं है। यह निराशाजनक है।’ उनका इशारा सत्तारूढ़ ‘पाकिस्तान तहरीके इंसाफ’ और ‘पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज’ के बीच मतभेदों की ओर था।

टीवी ऑन करो तो हार दिखाई देती है

दुनिया न्यूज ने खोसा के हवाले से कहा,‘‘हम चैनल बदलते हैं और क्रिकेट वर्ल्ड कप की ओर देखते हैं तो वहां भी निराशाजनक खबरे हैं।’  उन्होंने कहा कि ऐसे अफरा तफरी के माहौल में पाकिस्तान की जनता को जो भी अच्छी खबरें सुनाई दे रहीं हैं वह पाकिस्तान की अदालतों से हैं। बता दें कि 16 जून को वर्ल्ड कप में हुए मैच में भारतीय टीम ने पाकिस्तान को 89 रनों से हराया था।
 

केवल अदालतों से ही सुनने को मिलती है अच्छी खबर 

चीफ जस्टिस खोसा ने कहा कि इन दिनों केवल अदालतों से ही अच्छी खबर सुनने को मिलती है। पाकिस्तान की न्यायिक व्यवस्था में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का इस्तेमाल किया जा रहा है, इससे जांच जल्द पूरी हो रही है। यह व्यवस्था हमें सच के करीब जाने में मदद कर रही है। पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट दुनिया में पहली ऐसी सर्वोच्च अदालत है, जिसने ऑनलाइन केसों की सुनवाई शुरू की है।

पाकिस्तान के प्रधान न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तानी इन दिनों अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में, राजनीति में और यहां तक की क्रिकेट जगत तक से केवल ‘निराशाजनक’ खबरें ही सुन रहे हैं।

प्रधान न्यायाधीश ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसी खबरें कि ‘देश की अर्थव्यवस्था आईसीयू में हैं’ अच्छी खबर नहीं है। उन्होंने कहा,‘हम अर्थव्यवस्था की बातें सुनते हैं और बताया जाता है कि यह या तो आईसीयू में है अथवा अभी आईसीयू से बाहर आई है।’

उन्होंने कहा,‘हम संसद से बाहर आती आवाजें सुनते हैं और हम देखते हैं कि सदन के नेता के साथ ही विपक्ष के नेता को बोलने की इजाजत नहीं है। यह निराशाजनक है।’ उनका इशारा सत्तारूढ़ ‘पाकिस्तान तहरीके इंसाफ’ और ‘पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज’ के बीच मतभेदों की ओर था।

टीवी ऑन करो तो हार दिखाई देती है

दुनिया न्यूज ने खोसा के हवाले से कहा,‘‘हम चैनल बदलते हैं और क्रिकेट वर्ल्ड कप की ओर देखते हैं तो वहां भी निराशाजनक खबरे हैं।’  उन्होंने कहा कि ऐसे अफरा तफरी के माहौल में पाकिस्तान की जनता को जो भी अच्छी खबरें सुनाई दे रहीं हैं वह पाकिस्तान की अदालतों से हैं। बता दें कि 16 जून को वर्ल्ड कप में हुए मैच में भारतीय टीम ने पाकिस्तान को 89 रनों से हराया था।
 

केवल अदालतों से ही सुनने को मिलती है अच्छी खबर 

चीफ जस्टिस खोसा ने कहा कि इन दिनों केवल अदालतों से ही अच्छी खबर सुनने को मिलती है। पाकिस्तान की न्यायिक व्यवस्था में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का इस्तेमाल किया जा रहा है, इससे जांच जल्द पूरी हो रही है। यह व्यवस्था हमें सच के करीब जाने में मदद कर रही है। पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट दुनिया में पहली ऐसी सर्वोच्च अदालत है, जिसने ऑनलाइन केसों की सुनवाई शुरू की है।





Source link

JioBanjaranews
Latest India News, Live India News, India News Headlines, Breaking News India, Read all latest India News Jio Banjara news
http://www.newstvindia.cf

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *