Aap Accused Bjp For Increased Traffic And Pollution – आप का आरोप, भाजपा के कारण बढ़ा ट्रैफिक और प्रदूषण


डिजिटल ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Mon, 29 Apr 2019 12:07 AM IST

ख़बर सुनें

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि दिल्ली में बढ़ते हुए प्रदूषण के लिए भाजपा जिम्मेदार है। पार्टी के मुताबिक, भाजपा ने साजिश के तहत मेट्रो का किराया बढ़ाया जिसके कारण लोगों ने मेट्रो की सवारी छोड़कर अपना व्यक्तिगत वाहन अपनाया। इससे एक तरफ तो सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ा तो दूसरी तरफ इससे प्रदूषण में भी इजाफा हुआ। 

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने रविवार को एक प्रेस कांफ्रेस में कई शहरों के मेट्रो किराया की तुलना करते हुए कहा कि आम आदमी की कमाई के लिहाज से भारत में यह सबसे महंगे किराए में से एक है जिसके कारण लोगों ने मेट्रो का उपयोग करना बंद कर दिया। भारद्वाज के मुताबिक इसकी वजह से रोज पंद्रह लाख लोगों ने मेट्रो की सवारी छोड़ी। 

उन्होंने कहा कि मार्च 2017 में दिल्ली मेट्रो की राइडरशिप 28 लाख यात्री प्रतिदिन थी जबकि दिसंबर 2018 में यह संख्या सिर्फ 25 लाख रह गई। इस तरह प्रतिदिन 3 लाख यात्रियों की कमी दर्ज की गई। यह तब हुआ जब दिल्ली मेट्रो की कुल लंबाई 212 किलोमीटर से बढ़कर 327 किलोमीटर हो गई। जबकि इस स्थिति में यात्रियों की संख्या में इजाफा होना चाहिए था। 

उन्होंने कहा कि दिल्ली मेट्रो के फेस 3 के पूरा होने पर राइडर शिप का निर्धारित लक्ष्य 40 लाख यात्री प्रतिदिन था। यदि 25 लाख यात्रियों के हिसाब से देखें तो प्रतिदिन 15 लाख यात्रियों की संख्या में गिरावट आई है।

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि दिल्ली में बढ़ते हुए प्रदूषण के लिए भाजपा जिम्मेदार है। पार्टी के मुताबिक, भाजपा ने साजिश के तहत मेट्रो का किराया बढ़ाया जिसके कारण लोगों ने मेट्रो की सवारी छोड़कर अपना व्यक्तिगत वाहन अपनाया। इससे एक तरफ तो सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ा तो दूसरी तरफ इससे प्रदूषण में भी इजाफा हुआ। 

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने रविवार को एक प्रेस कांफ्रेस में कई शहरों के मेट्रो किराया की तुलना करते हुए कहा कि आम आदमी की कमाई के लिहाज से भारत में यह सबसे महंगे किराए में से एक है जिसके कारण लोगों ने मेट्रो का उपयोग करना बंद कर दिया। भारद्वाज के मुताबिक इसकी वजह से रोज पंद्रह लाख लोगों ने मेट्रो की सवारी छोड़ी। 

उन्होंने कहा कि मार्च 2017 में दिल्ली मेट्रो की राइडरशिप 28 लाख यात्री प्रतिदिन थी जबकि दिसंबर 2018 में यह संख्या सिर्फ 25 लाख रह गई। इस तरह प्रतिदिन 3 लाख यात्रियों की कमी दर्ज की गई। यह तब हुआ जब दिल्ली मेट्रो की कुल लंबाई 212 किलोमीटर से बढ़कर 327 किलोमीटर हो गई। जबकि इस स्थिति में यात्रियों की संख्या में इजाफा होना चाहिए था। 

उन्होंने कहा कि दिल्ली मेट्रो के फेस 3 के पूरा होने पर राइडर शिप का निर्धारित लक्ष्य 40 लाख यात्री प्रतिदिन था। यदि 25 लाख यात्रियों के हिसाब से देखें तो प्रतिदिन 15 लाख यात्रियों की संख्या में गिरावट आई है।





Source link

JioBanjaranews
Latest India News, Live India News, India News Headlines, Breaking News India, Read all latest India News Jio Banjara news
http://www.newstvindia.cf

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *